Page 1

jaipur, thursday, 05/04/2018 . 19

हमारी युगों पुरानी परम्पराओं में है ग्लोबल पावर! सरसरी तौर पर देखने वाले के लिए ये झोपड़ीनुमा घर दूसरों से अलग हैं। व्यवस्थित रूप से बनी ऐसी बस्तियों की ये झोपड़ियां हमें देशभर में नीले और सफेद रंग में मिलती हैं पर पुणे के हडपसर स्थित ‘गोसावी वस्ती’ नीले व हरे रंग में पुती हुई हैं। लेकिन, नाम आपको सोच में डाल देगा, क्योंकि इसे हैप्पी फैमिली कॉलोनी कहते हैं। इस तरह की तंग बस्ती में सार्वजनिक नल पर होने वाले झगड़ों से लेकर हर घर के टेलीविजन से जोर-जोर से आती आवाज और पड़ोसियों के गहरे संबंधों तक सब देखने को मिलेगा। ऐसी यह कॉलोनी खशुनूमा और दुखी करने वाले क्षणों का मिलाजुला रूप है। लेकिन, नाम के अनुरूप इस हैप्पी फैमिली एन. रघुरामन कॉलोनी में ज्यादातर बच्चे खुश हैं। और यदि यह मैनेजमेंट गुरु बुधवार है तो फिर खुशी कई गुनी बढ़ जाती है और raghu@dbcorp.in बच्चों के खिलखिलाने और बतियाने की आवाज भी बढ़ जाती है। क्योंकि, पिछले तीन बुधवारों से दुनिया के विभिन्न हिस्सों से ‘आजी’ (नानी-दादी) स्काइप कॉल पर आकर उनमें शुद्ध मराठी में बात करती हैं। ये आजियां वास्तव में ‘द ग्रेनी क्लाउड’ की समर्पित कार्यकर्ता हैं, जो दूर की किसी जगह से स्काइप के माध्यम से बच्चों से बतियाती हैं। नाम से गच्चा न खाएं, ग्रेनी क्लाउड का हिस्सा होने के लिए आपको वास्तव में नानी होने की कोई आवश्यकता नहीं है। ये नानी-दादी फिलहाल 24 से 78 वर्ष आयु तक की हैं और इनमें महिला-पुरुष दोनों हैं। क्लाउड की आजियां आवश्यक रूप से टीचर की भूमिका में नहीं होतीं और वे जो सेशन लेती हैं वे कोई सबक नहीं होते। इसकी बजाय वे बच्चों को कहानियां सुनाती हैं, उनके सामने बड़े सवाल रखती हैं और उन विषयों पर बातें करती हैं, जो उनके लिए प्रासंगिक हों। वे प्रोत्साहित करती हैं, प्रशंसा करती हैं, मार्गदर्शन करती हैं और बच्चों के लिए ‘वर्चुअल ग्रेनी’ बन जाती हैं। वे खुद भी बच्चों से सीखती हैं। वे जो शेयर करती हैं वे शिक्षा के प्रति दुनियाभर में अपनाया जा रहा ‘ग्रैंडमदर एप्रोच’ है। बिना शर्त प्रोत्साहन देकर ये आजियां ऐसा माहौल निर्मित करती हैं, जहां बच्चे फल-फूल सकें। बच्चों को सीधे निर्देश देने की बजाय बच्चों को प्रोत्साहन देकर वे उनका मार्गदर्शन करती हैं। संक्षेप में कहें तो वे उन्हें ज़िंदगी के सबक देती हैं। ‘द ग्रेनी क्लाउड’ नानी-दादी और उनके नाती-पोतों के बीच माहौल बनाता है ताकि दुनियाभर में मित्रता के वातावरण में लर्निंग ग्रुप्स बनाए जा सकें। इस अवधारणा का विकास शिक्षा शोधकर्ता सुगाता मित्रा ने किया ताकि दुनिया में कहीं भी इंटरनेट कनेक्शन के साथ मौजूद बच्चों को दादी-नानी या मध्यस्थ द्वारा लिए गए सेशन का लाभ मिल सके। पिछले माह ग्रेनी क्लाउड की वर्ल्डवाइड डायरेक्टर डॉ. सुनीता कुलकर्णी ने मराठी में पहला ग्रेनी क्लाउड सेशन शुरू किया। पिछले दो हफ्तों में बच्चों ने शाम का सत्र शुरू होने के साथ जोर से ‘हेलो’ चिल्लाना और सत्र समाप्ति पर जोर से ‘बाय’ कहना सीख लिया है। उन्होंने इस तरह के सवाल पूछने की हिम्मत जुटा ली है, ‘आपके पीछे सूर्य इतना कैसे चमक रहा है, जबकि यहां पुणे में तो अंधेरा है?’ और नानी कहती हैं कि टोरंटो में अभी सुबह के नौ बजे हैं। फिर वे सूर्य के चारों ओर चक्कर लगाती धरती की सारी अवधारणा समझाकर बताती हैं और बच्चे शत-प्रतिशत ध्यान केंद्रित कर भूगोल का सबक सीखते हंै। अब तक कम्बोडिया के गांवों, चिली, अर्जेंटीना, उरूग्वे, जमैका, ग्रीनलैंड, मेक्सिको, भारत, अमेरिका और ब्रिटेन के स्कूली बच्चों को इन सत्रों का फायदा मिला है, जो 2008 में शुरू किए गए थे। अब वे लेबनान और ग्रीस में सीरियाई शरणार्थी बच्चों से जुड़ने की संभावनाओं की पड़ताल कर रहे हैं। सदियों से हमारी संस्कृति ग्रैंड पेरेन्ट्स के साथ शामिल बिताने को प्रोत्साहित करती रही है, जिसमें एक कहानी सुनाने का सत्र भी होता है। अब आप देख सकते हैं कि नाती-पोतो और ग्रैंड पेरेंन्ट्स के बीच का वह सरल-सा संबंध अब ग्लोबल मिशन बन गया है। फंडा यह है कि अब वक्त आ गया है कि हम हमारी युगों पुरानी परम्पराओं की ताकत को पहचानें, जिनमें ग्लोबल मिशन बनने की पूरी संभावनाएं मौजूद हैं। मैनेजमेंट फंडा एन. रघुरामन की आवाज में मोबाइल पर सुनने के लिए टाइप करें FUNDA और SMS भेजें 9200001164 पर

Anju, Smita, Namrata & Minal

Wandana, Nitasha & Surbhi

जरूरी है "यस आई कैन' एटीट्यूड को अपनाना सिटी रिपोर्टर | जयपुर

हम में से कितने हैं जो बदलाव को अपनाने में नहीं झिझकते? हामी तो सब ही भरेंगे लेकिन असल में यह सोचना और करना बेहद मुश्किल है। जिस दिन आप परिवर्तन की निरंतरता को समझ जाएंगे उस दिन मामूली घटनाएं आप पर असर करना बंद कर देंगी। यह तो जीवन की सच्चाई की बात हुई, अगर आपको अपने सपनों को असलियत में बदलना है तो ‘यस आई कैन' एटीट्यूड अपनाना सबसे महत्वपूर्ण है। हर नई मुश्किल की ओर बढ़ने में हार के डर से घबराहट जरूरी होगी, लेकिन यही आपको जीत के और नजदीक ले जाएगा। जीवन जीने की कुछ बेहतरीन आदतों के बारे फिक्की फ्लो जयपुर चैप्टर की लेडीज से मोटिवेशनल स्पीकर राहुल कपूर ने बातचीत की। होटल मेरियट में हुए इस मोटिवेशनल सेशन में उन्होंने पॉजिटिविटी स्पिरिचुअल इंडियन लाइफ के बारे में सभी को बताया। साथ ही इस सेशन में ऑथर व आंत्रप्रिन्योर वरुण अग्रवाल ने भी लेडीज

फादर रेमंड स्टेट क्रिकेट टूर्नामेंट 17 से

सिटी रिपोर्टर | जयपुर

Sanjana

इटैलियन कुजिन में बनने वाला क्रिस्पी पास्ता इटली में रेडीमेड नहीं मिलता। घर हो या रेस्टोरेंट, इटली में कुक्स पास्ता के बेस को ट्रेडिशनल स्टाइल में ही कुक करते हैं। इंटरनेशनल पास्ता ऑर्गेनाइजेशन की स्टडी के अनुसार एक इटैलियन पूरे साल में करीब 25.3 किलो पास्ता कंज्यूम करता है। ऐसे में वहां पास्ता से ज़्यादा किसी भी और चीज़ का प्रोडक्शन 100 परसेंट प्रॉफिट में नहीं जाता। कुछ ऐसे ही कन्वेंशनल स्टाइल

में प्रिपेयर हुई रेसिपीज का जायका शहर के पास्ता लवर्स ने लिया। मौका था अजमेर रोड स्थित फुमो अटीको में हुए इटैलियन कुक ऑफ-पिज़्ज़ास्टा का। जहां गेस्ट्स को इटैलियन फूड की ट्रिक्स से रूबरू कराने के लिए हैड शेफ धीरज सिंह ने गेस्ट्स को अपने लिए पास्ता और पिज्जा बनाने की ट्रेनिंग दी। इस कुक ऑफ़ की खास बात यह रही कि सभी मेहमानों ने अपने चीज़ और ड्राई फ्लेवर्स के कॉम्बिनेशन से खुद अपनी पसंद का टेस्ट डेवलप किया। आखिर में डिश को स्मोकी फ्लेवर के लिए शेफ ने सभी के सामने लाइव फ्लेमबे कर दिखाया।

आज आएंगे शेन वार्न

जयपुर | तन्मय (10/6) की घातक तथा रूल

(20/3) की अच्छी गेंदबाजी से जय एकेडमी ने हदार कप अंडर-12 क्रिकेट टूर्नामेंट में महाप्रज्ञा एकेडमी को 8 विकेट से हराया। महाप्रज्ञा ने पहले खेलते हुए 16.5 ओवर में 64 रन बनाए। जवाब में जय एकेडमी ने 12.3 ओवर में 65 रन बना मैच जीत लिया। राघव ने 32 रन का योगदान दिया।

मनीष के तीन विकेट, जावेद भी छाए जयपुर | मैन ऑफ द मैच

मनीष मीणा (16/3) तथा जावेद जोया (38*) की पारी से डायमंड क्लब ने ओजस प्रीमियर लीग में जय क्लब क्रिकेट एकेडमी को 7 विकेट से हराया। जय क्लब एकेडमी ने पहले खेलते हुए विकास शर्मा (38) की पारी से 19.5 ओवर में 103 रन बनाए। डायमंड के विकास शर्मा ने 18/2 व उमर खान ने 17/2 विकेट लिए। जवाब में डायमंड क्लब ने 3/104 रन बना मैच जीत लिया।

स्पोर्ट्स से संबंधित समाचार इस ईमेल पर भेजेंsportscitybhaskar@gmail.com

Chef Dheeraj Singh

राजीव खन्ना ने कहा, किंग्स इलेवन का सीओओ रहते सीखी लीडरशिप स्किल

गोल्ड मेडलिस्ट कल्पना-राखी सम्मानित

तन्मय का ‘छक्का’, रूल के तीन विकेट

Dheeraj, Manish & Jatin

जयपुर। जोस बटलर और बेन लॉफलिन के जुड़ने से राजस्थान रॉयल्स का कैम्प एक तरह से गुलजार हो गया है। बुधवार को प्रैक्टिस में इन दोनों खिलाड़ियों ने भी हिस्सा लिया। एसएमएस स्टेडियम में प्रैक्टिस के दौरान बाएं से जतिन सक्सेना, स्पिन बॉलिंग कोच साईराज बहुतुले, जोस बटलर, संजू सैमसन और धवल कुलकर्णी। हल्के वार्म-अप के बाद टीम ने दूधिया रोशनी में प्रैक्टिस मैच भी खेला।

शेन वार्न की कप्तानी में 2008 में राजस्थान रॉयल्स चैंपियन बनी थी। इस बार टीम ने उन्हें मेंटर के रूप में जोड़ा है। वे गुरुवार को जयपुर पहुंचेंगे। इसी दिन टीम की जर्सी लॉन्चिंग भी है। इस अवसर पर मेंटर वार्न, कप्तान अजिंक्य रहाणे और जयदेव उनादकट भी उपस्थित रहेंगे।

राजीव गांधी यूथ कप के फाइनल में

जयपुर | राजीव गांधी एकेडमी ने स्टेट लेवल यूथ कप अंडर-14 के फाइनल में प्रवेश कर लिया है। दो दिवसीय सेमीफाइनल मैच के दूसरे दिन राजीव गांधी एकेडमी ने पहली पारी की बढ़त के आधार पर संस्कार एकेडमी को 92 रनों से हराया है। संस्कार एकेडमी ने 17 पर 2 विकेट से आगे खेलते हुए 69.2 ओवर में 143 रन बनाए। अनस मलिक ने 43* रन का योगदान दिया। राजीव गांधी एकेडमी के लिए राज शर्मा ने 35 रन पर 4, सचिन यादव ने 4 रन पर 3 व प्रिंस राठौड़ ने 22 रन पर 2 विकेट लिए।

सचिन का शतक, रामनिवास का अर्धशतक जयपुर | सचिन शर्मा (106*) की शतकीय तथा राम निवास गोलाडा (84) की अर्धशतकीय पारी से एसएचएस एकेडमी ने एसएचएस कप में मरुधर क्लब को 90 रन से हराया। एसएचएस ने पहले खेलते हुए 7/255 रन बनाए। मरुधर क्लब के दीपक ने 47/3 व अर्जुन ने 34/3 विकेट लिए। जवाब में मरुधर क्लब की टीम 30.5 ओवर में 165 रन ही बना सकी। मरुधर क्लब की ओर से विशाल माली ने 42 व सिधांत जायसवाल ने 39 रन की पारी खेली। अंबुज सिंह ने 24/4 व अभिषेक ने 35/3 विकेट लिए।

हरेंद्र की फिफ्टी, जीता वन विभाग

जयपुर। हरेंद्र (65) की अर्धशतकीय पारी से वन विभाग ने कलेक्ट्टरे कप में सांख्यिकी विभाग को 60 रन से हराया। वन विभाग ने पहले खेलते हुए 230 रन बनाए। गुरमीत ने 45 रन का योगदान दिया। नीरज साहू ने 3 विकेट लिए। जवाब में सांख्यिकी विभाग की टीम नवीन (62) व राकेश (47) की पारी के बावजूद 169 रन ही बना सकी। योगेंद्र ने 3 विकेट लिए। दूसरे मैच में पीएचईडी ने बिक्रीकर विभाग को 5 विकेट से हराया। बिक्रीकर ने 110 रन बनाए।

विक्रम सिंह ने 4 विकेट लिए। तीसरे मैच में सोलफील ने चिकित्सा विभाग को 5 विकेट से हराया। चिकित्सा विभाग ने डॉ. फिरोज (40) की पारी से 156 रन बनाए। विजेंद्र सिंह ने 3 विकेट लिए। सोलफील ने 5 विकेट पर लक्ष्य हासिल कर लिया। सूरज ने 77 व दुष्यंत ने 47 रनों का योगदान दिया। कासिम ने 2 विकेट लिए।

बख्शी बैडमिंटन की एग्जीक्यूटिव कमेटी में

राजस्थान बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष सुधीर बख्शी भारतीय बैडमिंटन संघ की एक्जीक्यूटिव कमेटी में चुने गए। गोवा में हुई मीटिंग के दौरान अध्यक्ष हेमंत बिस्वा सरमा (बाएं) के साथ।

जयपुर | 2009 में बैगेज मैनेजर से शुरुआत करने वाला व्यक्ति राजस्थान रॉयल्स के वाइस प्रेसीडेंट तक का सफर पूरा कर चुका है। क्रिकेट के जुनून के कारण यह व्यक्ति यहां तक पहुंचा है। इसका नाम है राजीव खन्ना। कहते हैं, मैंने अंडर-19 क्रिकेट खेला। कैंप भी किया। तभी से मुझमें क्रिकेट के प्रति जुनून था। क्रिकेट करियर तो मेरा आगे नहीं बढ़ पाया लेकिन मेरी मंशा यही थी कि मैं क्रिकेट से जुड़ा रहूं। मैं विदेश क्रिकेट टूर ले जाने लगा। उन दिनों जोधपुर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर लक्ष्मण सिंह राठौड़ और जोधपुर राजघराने से मुझे काफी सपोर्ट मिला। फिर एक दिन मेरे किसी दोस्त ने मुझे चुनौती दी कि टूर तो बहुत लोग ले जाते हैं संभव हो तो राजस्थान रॉयल्स से जुड़कर बताओ। यह शख्स उस समय राजस्थान रॉयल्स में क्रिकेट मैनेजर था। एक साल बाद यानी 2009 में मैं राजस्थान रॉयल्स में बैगेज मैनेजर बना। इस साल आईपीएल दक्षिण अफ्रीका शिफ्ट हो गया था तो मुझे ज्यादा काम नहीं मिला। लेकिन मुझे राजस्थान रॉयल्स की ओर से सिनेमा हॉल वगैरह में मैचों की स्क्रीनिंग का काम मिला था। जिसे मैंने बखूबी निभाया। इसके बाद मेरा राजस्थान रॉयल्स से जुड़ाव बढ़ता गया।

गौतम की फिफ्टी, जीती टीम मनीष की फिफ्टी,

जयपुर। गौतम शर्मा (52) की अर्धशतकीय पारी से जय एकेडमी ने अंडर-16 मानसून क्रिकेट लीग में ब्राइट फ्यूचर एकेडमी को 5 रन से हराया। जय एकेडमी ने पहले खेलते हुए 26.1 ओवर में 128 रन बनाए। ब्राइट फ्यूचर के विनय चौधरी ने 16/3, अभिषेक गर्ग ने 7/2 व दीपक सोनी ने 30/2 विकेट लिए। जवाब में ब्राइट फ्यूचर एकेडमी 36.3 ओवर में 123 रन ही बना सकी। सिंघात कोटेचा ने 31 रन की पारी खेली। जय एकेडमी के देव हर्ष ने 9/2 और ऋषि अग्रवाल ने 25/2 विकेट लिए।

Shakshi

क्रिकेट के जुनून से बैगेज मैनेजर बन गया रॉयल्स का वाइस प्रेसीडेंट

एसएमएस में प्रैक्टिस में मशगूल राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ी

मालवीय नगर की ओर से 17 अप्रैल से फादर रेमंड स्कूल स्टेट क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन होगा। प्रिंसिपल फादर एडवर्ड ओलिवियर के अनुसार, रेलवे ग्राउंड पर होने वाली यह चैंपियनशिप नॉकआउट आधार पर खेली जाएगी। इच्छुक टीमें 10 अप्रैल तक (9314650009) संपर्क कर सकती हैं।

बैडमिंटन प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीत कर आई राजस्थान की कल्पना यादव और राखी रणवा का सम्मान किया गया। चौगान स्टेडियम में आयोजित समारोह में कोच शौकत मंसरू ी को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मेयर अशोक लाहोटी, इनकम टैक्स कमिश्नर नरेंद्र गौड़, समाज सेवी गौरांग अग्रवाल एवं पूर्व विधायक राजस्थान हाजी गुल मोहम्मद मंसरू ी ने दोनों खिलाड़ियों को मोमेंटो एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

Swati & Ritu

पास्ता लवर्स के लिए कुक ऑफ और लाइव फ्लैमबे

जयपुर | सेंट एंसलम्स पिंक सिटी,

जयपुर | मंसरू ी समाज युवा विकास संस्थान द्वारा अंतरराष्ट्रीय यूथ बॉल

Meenakshi & Ranjana

आंत्रप्रिन्योरशिप के बारे के चर्चा की। बेंगलुरू के यंग आंत्रप्रिन्योर वरुण अपनी दो कंपनियों के लॉन्च होने पर कहते हैं कि इंडियंस बेहद इंटेलीजेंट और स्मार्ट होते हैं। उनके पास जुगाड़ से जितने आइडिया आते हैं वो किसी को नहीं आ सकते। लेकिन Pallavi वो प्रोजेक्शंस, मार्केट रिसर्च, चार्ट्स और नंबर्स में रह जाते हैं और सही समय अपने आइडिया को डेवलप करने में नहीं लगा पाते। इसलिए जो सोचा है बस सब भूल कर उसमें कूद पड़ना चाहिए, बिना किसी हार से डरे। सेशन के बाद सभी फ्लो मेंबर्स के लिए नेटवर्किंग हाई टी रखी गई।

Sports Sports Bulletin

Members listening to the speakers

नरेंद्र के तीन विकेट

जयपुर। मनीष सिंह (63) की अर्धशतकीय पारी तथा नरेंद्र चारम (3 विकेट) की शानदार गेंदबाजी से ज्ञान विहार एकेडमी ने चैंपियंस कप में आरएन एकेडमी को 7 विकेट से हराया। आरएन एकेडमी ने पहले खेलते हुए 97 रन बनाए। विशु शर्मा ने 30 व गजेंद्र सिंह ने 25 रन की पारी खेली। जवाब में ज्ञान विहार एकेडमी ने 28 ओवर में 3 विकेट पर लक्ष्य हासिल कर लिया।

प्रीति जिंटा की टीम के साथ काम किया

मैंने राजस्थान रॉयल्स के साथ जो काम किया उसका अनुभव मेरे काम आया। जब राजस्थान रॉयल्स दो साल के प्रतिबंधित थी तब मुझे प्रीति जिंटा की टीम किंग्स इलेवन पंजाब के साथ काम करने का मौका मिला। यहां मुझे टीम का चीफ ऑपरेटिगं ऑफीसर (सीओओ) बनाया गया। असल में मैंने यहां ही लीडरशिप स्किल सीखी। अब जब राजस्थान रॉयल्स वापस आई तो फिर मुझे इससे जुड़ने का मौका मिला। अब छोटे से छोटा और बड़े से बड़ा काम मेरे जिम्मे है। इसमें टिकटिंग, फूड, सरकारी विभागों से कोऑर्डिनशे न, मीडिया टीम, टेंटजे आदि। यहां तक कि इस बार आरसीए के जिम्मे जो काम थे वे भी राजस्थान रॉयल्स को करने हैं। इसलिए इस बार जिम्मेदारी और बड़ी है।

मुझ पर मालिकों को विश्वास

राजीव कहते हैं, मालिको का मुझ पर विश्वास है। उन्हें पता है कि यह आदमी गलत काम नहीं करेगा। इसलिए मैं यहां तक पहुंचा हूं। टीम ऑनर मनोज बडाले और एक्जीक्यूटिव चेयरमैन रंजीत बारठाकुर बैन खत्म होने के बाद यही चाहते थे कि राजस्थान रॉयल्स का बेस जयपुर में ही हो।

खिलाड़ियों ने पास किया बेल्ट टेस्ट

जयपुर | श्रीराम मार्शल आर्ट की ओर से आयोजित बेल्ट टेस्ट में गौरव, प्रद्युम्न मिश्रा, राशि शर्मा, हर्ष शर्मा, पूर्वा गेरा व प्रद्युम्न वशिष्ठ ने यलो बेल्ट, रवि शर्मा ने ग्रीन बेल्ट, शेखर जांगिड़, राहुल बर्मन, विदिशा माथुर, आर्यन उपाध्याय, गुरविंदर, मृदुल बत्रा, दर्श जेठानी व शि‌वांश ने ब्लू बेल्ट तथा अनुश्री, दर्श शर्मा, लवन्या, समाक्षी व सिमर, कृत्वी, वंश व दर्श जैन ने रेड बेल्ट पास किया।

Rahul Kapoor - Motivational Speaker  

Rahul Kapoor, India's leading motivational speaker, mentor, the inspirational author incorporates valuable content for business and personal...

Rahul Kapoor - Motivational Speaker  

Rahul Kapoor, India's leading motivational speaker, mentor, the inspirational author incorporates valuable content for business and personal...

Advertisement