Page 1

Test Series 2020 (Hindi/English) Current Affairs Study Materials Static General Knowledge www.iqfunda.com


जलवायु परिवर्तन हाऱ ही में आईपीसीसी ( IPCC ) द्वारा जऱवायु पररवर्तन पर जारी ररपोर्त ने ववश्व समुदाय को इसके प्रतर् सचेर् ककया है । IPCC ने ' ग्ऱोबऱ वार्मिंग ऑफ 1 . 5°C ' नामक शीषतक से

एक ववशेष ररपोर्त जारी की है । जजसमें वैजश्वक र्ापन की वर्तमान जथितर् पर प्रकाश । डाऱा गया है र्िा यह बर्ाया गया है कक मानव जतनर् ग्ऱोबऱ वार्मिंग 2017 में ही पव ू त औद्योगगक थर्र से 1°C के ऊपर पहुुंच चक ु ा है ।

इस ररपोर्त में यह र्थ्य भी सामने आया है कक 2030 - 2052 के बीच इसके 1 . 5°C से ऊपर पहुंचने की सुंभावना है । वैजश्वक थर्र पर ग्ऱोबऱ वार्मिंग की इस समथया को दे खर्े हुए जऱवायु पररवर्तन के प्रतर् समझ और जागरुकर्ा को बढाने की आवश्यकर्ा है । जलवायु परिवर्तन जऱवायु पररवर्तन का सामान्य अित जऱवायवीय दशाओुं में आने वाऱे व्यापक पररवर्तन से है , जो वथर्ुर्् र्ापमान , वषात आदद के पैर्नत में बदऱाव को इुंगगर् करर्ा है ।

- यह एक दीघतकार्ऱक प्रकिया है ,जो प्राकृतर्क एवुं मानवीय कारकों के प्रभाव से घदर्र् होर्ी है ।

प्राकृतर्क कािक (a) सौर कऱुंकों की मात्रा में वद् ृ गि ,

(b) सौर ववककरण में ववर्भन्नर्ा ,

(c) पथ् ृ वी का अऺीय झकाव र्िा कऺा पररवर्तन , (d) ज्वाऱामुखी उद्गार ,के

(e) महाद्वीपीय ववथिापन ।

जऱवायु पररवर्तन वाथर्व में एक प्राकृतर्क प्रकिया है , जो प्रकृतर् में घदर्र् होर्ी है , परन्र्ु वर्तमान में मानवीय गतर्ववगियों ने इस प्रकिया को र्ीव्र कर ददया गया है । तनम्नर्ऱखखर् मानवीय गतर्ववगियों ने इसे प्रभाववर् ककया है : (a) र्ीव्र औद्योगीकरण ,

(b) वनोन्मूऱन र्िा र्ीव्र शहरीकरण ,

(c) जीवाश्म ईंिनों का प्रयोग ,

(d) ग्रीन हाउस गैसों का र्ीव्र गतर् से उत्सजतन ,

(e) भूर्म - उपयोग में बदऱाव । www.iqfunda.com


जऱवायु पररवर्तन वर्तमान में कई वैजश्वक मुद्दों जैसे - गरीबी , आगितक ववकास , प्राकृतर्क

सुंसािनों के सुंरऺण के साि - साि समुद्री पाररर्ुंत्र एवुं मानव र्िा जीव - जुंर्ुओुं के र्ऱए गचुंर्ा का ववषय है ।

ररपोर्त के मुख्य र्थ्य इस ररपोर्त में 1 . 5°C र्ापमान वद् ृ गि होने से कई प्रभावों जैसे समुद्री

थर्र में वद् ृ गि ,वषात की मात्रा में वद् ृ गि , सुखा एवुं बाढ की घर्नाओुं में वद् ृ गि , हीर् वेव एवुं

चिवार्ों की र्ीव्रर्ा में वद् ृ गि के साि - साि महासागरीय अम्ऱीयर्ा और ऱवणर्ा में वद् ृ गि

की | प्रबऱ सुंभावना व्यक्र् की गई है । अगर र्ापमान में 1 . 5°C से 2°C के बीच वद् ृ गि होर्ी है र्ो वह | फसऱ उत्पादन में कमी को बढाकर 2050 र्क गरीबों की सुंख्या में र्ीव्र वद् ृ गि करे गी । प्रवाऱ र्भवियों में 70 . 90 % के बीच हास होने के साि - साि अगर 2°C र्क

र्ापमान वद् ृ गि होर्ी है ,र्ब ऱगभग प्रवाऱ र्भवियों की समाजतर् का अनुमान है । ररपोर्त में यह बर्ाया गया है कक यदद र्ापमान को 1 . 5°C पर सीर्मर् करना है र्ो 2030 र्क CO

,उत्सजतन को 2010 के थर्र से 45 % कम कर 2050 र्क तनवऱ शन् ू य उत्सजतन ( net Zero emissions ) के थर्र पर ऱाना होगा । उपयक् ुत र् ररपोर्त के आऱोक में यह आवश्यक है कक

जऱवायु पररवर्तन की सुंकल्पना उसके प्रभाव , चुनौतर्याुं एवुं शमन के उपायों को समझा जाए : र्ाकक ववश्व समुदाय इस वैजश्वक सुंकर् से तनपर्ने में सऺम हो सके । हरिर् गह ृ (ग्रीन हाउस गैस) गैस वायुमुंडऱ में मौजूद वे गैसें जो सूयत से आने वाऱी ऱघुर्रुं गों को पथ् ृ वी के वायुमुंडऱ में रोककर उसे गमत करने में भूर्मका तनभार्ी हैं , हररर् गह ृ गैसें कहऱार्ी हैं । 1 प्रमुख हररर् गह ृ गैसों में सजम्मर्ऱर् है 1 .काबतन डाइऑक्साइड ( CO2 , )

2 . र्मिेन (CH4) ,

3 .नाइट्रस ऑक्साइड (N 2 O) , 4 .फ्ऱरू ोतनर्े ड गैस - (क्ऱोरोफ्ऱोरो काबतन , हाइड्रोफ्ऱोरो काबतन , परफ्ऱोरोकाबतन , सल्फर हे क्साक्ऱोराइड व नाइट्रोजन हाइफ्ऱोराइड ) , 5 .हे ऱोन्स ,

6 . जऱवाष्प ।

पथ् ु ुंडऱ में पाई जाने वाऱी कुछ गैसें सौर ववककरण को िरार्ऱ र्ऱ पहुुंचने में ृ वी के वायम बािा उत्पन्न नहीुं करर्ी हैं । परन्र्ु वे पथ् ृ वी से ववकररर् होने वाऱी दीघत र्रुं गों को रोककर

पुन् भू - सर्ह पर परावतर्तर् कर दे र्ी हैं । वायुमुंडऱ में घदर्र् होने वाऱी यह घर्ना - हररर् गह ृ प्रभाव के नाम से जानी जार्ी है ।

www.iqfunda.com


कार्तन उत्सजतन 2018 में ऊजात की बढर्ी माुंग के कारण 1 . 7 % की वद् ृ गि दजत की गई ,जजसमें ऊजात ऺेत्र का योगदान दो - तर्हाई है । चीन , भारर् और सुंयुक्र् राज्य अमेररका ने इस नेर् उत्सजतन में 85 % का योगदान ददया ; जबकक जमतनी , जापान , मैजक्सको , फ्ाुंस र्िा ब्रिर्े न में CO , उत्सजतन में गगरावर् दजत की गई ।

www.iqfunda.com

Profile for IQ Funda

जलवायु परिवर्तन  

Advertisement