Page 1

अपोजी, दिवस 3 : 30 मार्च, 2014

थथक िं अगेन , थदवस 2

एक मल ु ाकात जोहाना ब्लेक्ली के साथ

अपोजी इनोवेशन चैलेंज

पोटेथशशओमीटर

इथिं िया थक्वज़

बैटल ऑफ वाटरलू

आई-स्ट्राइक

थबट्थसयन CEO

कोि-स्ट्टोमम

3िी रेजर हटिं

बॉब द थबल्िर

रोबोट्स एट वॉर

लेज़र एििं फायर शो

कोि ररले

अप इन द एअर

360 थिग्री इजिं ीथनयररिंग

Oobleck

आपकी ‘थबट्थसयन लाइफ’ में से एक और अपोजी खत्म होने को है| इससे जड़ु े सभी लोगों की मेहनत सराहनीय भी है| चाहे वह लोगों की उनके प्रोजेक्ट्स के थलए हों या थफर थकसी ईवेंट के सफल आयोजन के थलए| इतने वृहद तकनीकी त्योहार के आयोजन की थज़म्मेदारी सभिं ालने का अथम छात्र सिंघ अध्यक्ष और उनकी परू ी टीम से बेहतर और कौन जानता होगा| छोटी से छोटी बारीकी से ले कर बड़ी से बड़ी समस्ट्या तक सब कुछ! इसके थलए इनकी सराहना तो करनी ही चाथहए| थथक िं अगेन में रयान विु वॉिम ने उनके यहााँ आने से पहले के भय का थजक्र थकया थक वह हमें तकनीकी रूप से दक्ष मानते हैं| थवरोधाभास ही है थक किंपथनयााँ आज भी एक सामाशय थबट्थसयन को तकनीकी रूप से कमजोर कहती हैं| कारण भी है, अपोजी की तैयाररयााँ महीनों पहले शरू ु हो जाती हैं, मगर अपोजी प्रोजेक्ट्स का एक बड़ा थहस्ट्सा अथिं तम थदनों में ही परू ा थकया जाता है| किंरोल्स के प्रयासों के बाद भी लोगों की इस मानथसकता में शायद ही बदलाव आया है| अपनी कथमयों को स्ट्वीकार करना एक कथिन काम है| थफर भी यह तो मानना होगा थक लोग थिथसथललनरी असॉक या थफर उनसे जड़ु ी चीजों से ज़्यादा प्राथथमकता अपने क्लब-थिपाटममेंट को देते हैं| खैर, इस पर थटलपणी करना उथचत नहीं होगा, मगर एक तकनीकी सिंस्ट्थान में होने पर यह हमारी नैथतक थज़म्मेदारी बनती है थक कम से कम हम तकनीकी रूप से योग्य तो हो हीं| वतममान पररपेक्ष में यह मद्दु ा थनथित ही गभिं ीर है| यह सब कुछ थलखते हए सयू ोदय हो चक ु ा है, क्लब के साथ नतू न पर चाय पीने के अनभु व थलखने पर यह सपिं ादकीय लबिं ी हो जाएगी और प्रथम पृष्ठ का स्ट्थान खो बैिेगी| ऊपर थलखी बातों पर थवचार मत कीथजएगा| इनसे भी महत्वपणू म मामले हैं- जैसे थक समाज की सिंवेदनशशू यता, पाखिंि और न जाने क्या क्या| थनजी तौर पर तो सोचता हाँ थक सभी शैक्षथणक सिंस्ट्थानों को इशहीं मद्दु ों पर अनसु िंधान करना चाथहए|


2

एक मुलाकात – जोहाना ब्लैक्ली के साथ थथक िं अगैन के प्रथम थदन नॉममन लेअर सेंटर की प्रबिंध सिंचालक (मैनेथजिंग िायरे क्टर) और ररसचम थनदेशक जोहाना ब्लैक्ली का व्याख्यान आयोथजत थकया गया था। जोहाना वतममान में यथु नवथसमटी ऑफ़ साउदनम कै लीफोथनमया आधाररत ररसचम कें द्र ‘नॉममन लेअर सेंटर’ में सोशल मीथिया, फै शन, थिजीटल मीथिया, एिंटरटेनमेशट आथद मद्दु ों पर ररसचम करती है। अपोजी थहदिं ी प्रेस द्वारा इसी सिंदभम में उनसे हुई मल ु ाकात के कुछ अश िं :घर पर आपने अपने माता-थपता से अवश्य ही िााँट खाई होगी, ‚सारे थदन फे सबक ु पर ही लगा रहेगा क्या?‛ हमारे समाज में यह समझा जाता है थक सोशल मीथिया से व्यथिगत एविं सामाथजक सिंवाद क्षमता को नक ु सान पहुचाँ ता है। परिंतु जोहाना की सोच इस मामले में दथु नया से मेल नहीं खाती। उशहोंने बताया थक मैकऑथमर फाउिंिेशन की मदद से एक सवे थकया गया था थजसमें शययु ॉकम के एक सावमजथनक स्ट्थान पर सी.सी.टी.वी. कै मरा की मदद से लोगों के सामाथजक सिंवाद के व्यव्हार का अध्ययन थकया गया। इस सवे के पररणाम के अनसु ार जो लोग स्ट्माटमफोन पर चैट कर रहे थे उनमें सामाथजक व्यव्हार की प्रकृ थत अशय लोगों की तल ु ना में अथधक पाई गयी है। उशहोंने बताया थक आजकल लोग सोशल मीथिया, मख्ु यत: चैथटिंग का इस्ट्तेमाल एक-दसू रे की वतममान थस्ट्थथत जानने हेतु करते हैं थजसके बाद वो एक-दसू रे से व्यथिगत रूप में थमल सकते हैं। सोशल मीथिया के आगमन से आम व्यथि की थनजी जानकारी का बड़ा अश ु , गगू ल आथद बड़ी तकनीकी किंपथनयों के पास है, इससे हमारी िं फे सबक जानकारी की गोपनीयता पर क्या प्रभाव पड़ सकता है? इस पर जब हमने उनका दृथिकोण जानना चाहा तो उशहोंने बताया थक उनके ररसचम के अनसु ार फे सबक ु थकसी भी थिम पाटी को िेटा उपलब्ध करवाने में अत्यथधक सावधानी रखती है। फे सबक ु थसफम आपके पथब्लक िेटा को ही थिम पाटी साइट्स से साझा करती है। लगभग 20% लोग फे सबक ु पर अपनी पोस्ट्ट्स पथब्लक रखते हैं। इसी दौरान हमें उनके जीवन वृत के बारे में भी जानने का मौका थमला। जोहाना ने यथु नवथसमटी ऑफ़ कै लीफोथनमया, सािंता बारबारा से अग्रिं ेजी में पी.एच.िी. हाथसल की। उस दौरान, सन 1995, उशहें अपने एक प्रोफे सर से ग्राथफकल यजू र इटिं रफे स के उपयोग का मौका थमला थजससे वो अत्यिंत प्रभाथवत हुई। ध्यान रथखये, उस वि इटिं रनेट अपने वतममान स्ट्वरूप में नहीं था और मख्ु यतया अरूथचकर कमािंि लाइन इटिं रफे स का उपयोग होता था। इसथलये वे यथु नवसमल गेम्स नामक एक वेब स्ट्टाटमअप से जड़ु गयी थजसे बाद में थववेंिी ने खरीद थलया। यह किंपनी गेम बनाकर उशहें अपने स्ट्थानीय कें द्रों (local centers) पर भेजती थी थजसे वहााँ के बाजार के अनसु ार पररवथतमत थकया जाता था। बकौल जोहशना, इस बात में उशहें हमेशा यह थजज्ञासा होती थी थक वो लोग यह करते कै से है? इसथलये वे नॉममन लेअर सेंटर से जड़ु गयी। उशहोंने बताया थक बड़ी तकनीकी किंपथनयााँ कई बार कुछ स्ट्टाटमअलस को थसफम प्रथतद्वथिं द्वता खत्म करने हेतु खरीद लेती हैं। जैसे थफलहाल ही फे सबक ु ने ओकुलस (Oculus) को खरीद थजस पर कई ओकुलस फैं स की तीखी प्रथतथक्रया थी।

अंत में जोहाना ने बबट्बियन्ि की काफ़ी प्रशंिा की जब उन्हें पता चला बक बबट्ि में िब कुछ बिद्याबथियों द्वारा आयोबजत बकया जाता है। उन्होंने कहा बक िो आज तक जहााँ भी गई है, िहााँ मुख्यतया स्टाफ मेम्बिि या फै कल्टी िे ही बमली हैं परंतु बबट्ि में इिका ठीक बिपरीत है। उनके शब्दों में बोलें तो ‚लेज़ी अमेररकन्ि आर लाइक ‘एम गोना स्लीप नाउ’।‛


3

अपोजी इनोवेशन चैलेंज- इं टननशशप्स के शलये आपका प्रवेश द्वार

इस अपोजी थबट्स एम्रयो द्वारा एक नया और अत्यिंत उपयोगी इवेंट ‘अपोजी इनोवेशन चैलेंज’ आयोथजत थकया गया। एल.टी.सी. 5104 एविं 5105 में सबु ह 9:00 बजे आयोथजत इस इवेंट में प्रथतभाथगयों को थवथभशन मल्टी-नेशनल किंपथनयों द्वारा थदए गये प्रॉब्लम स्ट्टेटमेंट्स का समाधान महु यै ा करवाना था। प्रथतभागी 2 से 4 सदस्ट्यों के दल बनाकर समाधान उपलब्ध करवा सकते थे। इसके थलये उशहें एक माह का वि थदया गया था। समाधानों का मल्ू यािंकन स्ट्वयिं उन किंपथनयों के प्रथतथनथधयों द्वारा थकया गया और समाधान प्रस्ट्ततु कताम थवजेता को उस किंपनी में समर या थवटिं र प्रथशक्षण (Internships) से नवाज़ा जायेगा। इस इवेंट में जो प्रॉब्लम स्ट्टेटमेंट्स थदए गये थे वो वास्ट्तव में वतममान में किंपनी के सामने आ रही समस्ट्याएिं थी। कल अदानी पावसम, टेहरी हाइड्रो िेवलपमेंट कॉरपोरे शन थलथमटेि और बाइ-स्ट्क्वायर थसस्ट्टम्स के प्रॉब्लम स्ट्टेटमेंट्स पर प्रस्ट्तथु त देनी थी थजनमें बाइस्ट्क्वायर थसस्ट्टम्स के प्रथतथनथध यात्रा के दौरान थकसी दघु टम ना में फ़ाँ स जाने के कारण कै म्पस नहीं आ पाये। बाकी दोनों किंपथनयों के थलये 4-4 दलों ने समाधान प्रस्ट्ततु थकये। बाकी बची किंपथनयों के थलये प्रस्ट्तथु तकरण 30 माचम को होगा। थबट्स एम्रयो के समविं यक अथखलेश आनिंद ने बताया थक पहली बार आयोथजत थकये जाने के कारण प्रथतभाथगयों को समाधान महु यै ा करवाने के थलये कम वि थमला परिंतु थफ़र ् भी इसमें प्रथतभाथगता उत्साहजनक थी। यह एक ऐसा इवेंट था थजससे आपको वास्ट्तथवक जगत की चनु ौथतयों को जानने और उनका समाधान खोजने का मौका थमला जो भथवष्य में आपके थलये फायदेमदिं साथबत होगा। पोटे न्शशओमीटर अपोजी-2014 के दसू रे थदन एफिी-2 क्यटू ी में पोटेथशशओमीटर REC द्वारा आयोथजत थकया गया। इस इवेंट में प्रथतभाथगयों को दी गयी सामग्री जैसे साइथकल, कुछ मोटसम आथद का इस्ट्तेमाल करके वोल्टेज उत्पशन करना था व उस वोल्टेज का इस्ट्तेमाल कर एक मोमबत्ती जलानी थी थजसके थलये उशहें 1:30 घटिं े का समय थदया गया था। इस इवेंट में कुल 10 टीमों ने प्रथतभाग थकया था। टीमों ने वोल्टेज उत्पशन करने के थलये अलग-अलग तरीके अपनाए थे। थकसी ने वायु ऊजाम तो थकसी ने घषमण से थनकली ऊजाम का इस्ट्तेमाल थकया था। टीमों द्वारा थकये गये कायम का आकलन रचनात्मकता व अथधकतम वोल्टेज के आधार पर थकया गया था। इवेंट की समाथि पर सभी प्रथतभागी अपने कायम से सिंतुि थदखे। वहााँ उपथस्ट्थत एक प्रथमवषीय छात्र शािंतनु ने बताया थक उशहोनें सोचा भी नहीं था थक वे 15 वोल्ट तक का वोल्टेज उत्पशन कर पायेंगें।

इं शिया न्िज़ थनमामण द्वारा आयोथजत इथिं िया थक्वज़ में थदलचस्ट्पी रखने वालों को कल बहुत इतिं ज़ार करना पड़ा। 12 बजे होने वाली थक्वज़ को पहले तो 2:30 बजे तक और थफर 5:15 बजे तक स्ट्थथगत करना पड़ा। ऑिी में रोबोथटक्स पर होने वाले लेक्चर के कारण ये 5:15 की जगह पर भी 6:00 बजे के आस-पास ही शरुु हुई। इसके उपरातिं थदल्ली से आये थक्वज़मास्ट्टर ने थनयम पढ़कर सनु ाये। टीमों में अथधकतम तीन सदस्ट्य हो सकते थे और सभी टीमों को अपने बीच दो सीटों का फासला रखना था। एथलम्स में कुल थमलाकर 30 प्रश्न पछू े गये, थजनमें से 5, 10, 15, 20, 25 और 30 नम्बर के प्रश्न टाईरेकर के थलये थचथशहत थे। प्रथतयोथगयों ने प्रश्नों को कथिन और अनिू ा बताया। एथलम्स से चनु ी गयी टीमों का 3215 में फाइनल राउिंि आयोथजत थकया गया। इसी के फलस्ट्वरूप थबट्स थपलानी के अपवू म थजिंदल, काथतमक घोष और शाश्वत थकशोर की टीम को थवजेता घोथषत थकया गया। अथखल, थहमानीश गजिं ू और श्रीकर की टीम उपथवजेता रही।


4

बैटल ऑफ वाटरलू अपोजी के तीसरे थदन आज प्रात: 9 बजे थबरला म्यथू ज़यम मे बैट्ल ऑफ वाटरलू का आयोजन मैकेथनकल थवभाग द्वारा थकया गया। इस प्रथतयोथगता के अतिं गमत प्रथतभाथगयों को एक ऐसे बोट का थनमामण करना था जो पानी मे अपना कमाल थदखा सके । आयोजन की तैयारी समय पर कुशलतापवू मक कर ली गयी थी। प्रथतयोथगता के प्रारम्भ से ही दशमकों का उत्साह देखने लायक था। थवद्यालयों के छात्रों की लम्बी कतार इस आयोजन के प्रथत उनके मन मे उत्साह को साफ प्रदथशमत कर रही थी। नशहें छात्रों के चेहरे पर मस्ट्ु कान इस आयोजन के सफलता की गवाही दे रही थी| प्रथतयोथगता के प्रथम चरण मे टीमों को कम से कम समय मे पानी मे एक चक्कर लगाना था। कुछ टीमों के बोट सीमारे खा की दीवारो से टकराकर थचत हो गये तो कई ने सफलतापवू मक प्रथम चरण पार कर थलया। दसू रे चरण मे टीमों को कथिन राहो से गजु रना था थजसमे कुछ के हाथों ही सफलता लगी। अतिं मे थबट्स के साकार खरु ाना, थहमािंशु काले, चैतशया और थपयषु जैन की टीम ने सफलता प्राि की। आई-स्ट्र ाइक अपोजी-2014 के दसू रे थदन EEE-थवभाग द्वारा आयोथजत आई-स्ट्राइक सबु ह 11:30 बजे कक्ष 3115 में आरम्भ हुआ। दो चरणों की इस प्रथतयोथगता में छत पर एक कै मरा लगाया गया था जो रैक के थचत्रों को कम्लयटू र पर भेज रहा था थजसे मैटलैब जैसे कुछ सॉफ्टवेयसम के इस्ट्तेमाल से थक्रयाथशवत करके कमािंि्स को बॉट तक भेज रहे थे थजसकी मदद से बॉट आगे बढ़ रहा था। रैक को और भी थदल्चस्ट्प बनाने के थलये बीच में दो अवरोध रखे गये थे। बॉट को अवरोधों को पहचानकर रुकना था और अवरोध हटाये जाने पर आगे बढ़ना था। आगे जाने पर दो मागम थे। दोनो मागों पर हरे रिंग के बल्ब लगे थे थजस मागम का बल्ब जले उस ओर जाना था। इस इवेंट में कुल दस टीमों ने प्रथतभाग थकया था। थवजेताओ िं के नाम समापन कायमक्रम में घोथषत होंगें।

कोि-स्ट्ोमन सी.एस.ए और आई.एस.ए. द्वारा शथनवार को ‘कोि - स्टोर्म’ नामक प्रथतयोथगता माइक्रोसोफ्ट के प्रयोजन में fd-1 में आयोथजत थकया गया| इस प्रथतयोथगता में छात्रों की प्रोग्राथमिंग दक्षता को परखा जाना था| कुल 60 टीमों ने इस लोकथप्रय प्रथतयोथगता में भाग थलया एविं प्रत्येक टीम में दो सदस्ट्य थे | तीन घटिं े की इस प्रथतयोथगता में प्रोग्राथमगिं के 6 सवाल पछ ू े गए| आयोजक टीम के प्रमख ु तथनश के अनसु ार बाहरी प्रथतभाथगयों का इस प्रथतयोथगता की तरफ रुझान कुछ कम ही रहा | यह प्रथतयोथगता सफलतापवू मक सिंपशन हुई एविं अथखलेश और अनतिं इस प्रथतयोथगता के अथिं तम थवजेता रहे|

शबट् शसयन CEO जीवन भी एक प्रबिंधन कला है ,प्रत्येक मनष्ु य में यह कला एक थनथित समयोपरािंत आती है| मल ू त: यह छात्रजीवन में उभर कर आती है| थजस छात्र को इस काला का ज्ञान हो जाता है वह अपने जीवन के पथ पर अग्रसर हो जाता है| इसी कला को परखने के थलए इकोनॉथमक्स एिंि फ़ाईनेशस एसोथसएशन ने कनसलथटिंग क्लब के साथ "BITSIAN CEO" नामक प्रथतयोथगता 2217 में 5 बजे से आयोथजत कराया गया| इसमें दो चरणों में प्रथतभाथगयों की सोच को जााँचा गया| पहले चरण में एक साधारण थक्वज आयोथजत कराया गया थजसमें थबजनेस ज्ञान को परखा गया| इस राउिंि का इकोनॉथमक्स एिंि फ़ाईनेशस एसोथसएशन के सदस्ट्यों द्वारा मल्ू यािंकन करा गया| इसके बाद दसू रा राउिंि हुआ थजसमें दी गयी पररथस्ट्थथत पर अपने अदिं ाजे से एक सख्िं या का अनमु ान लगाकर अपनी सोच का परीक्षण करना था| इसका मल्ू यािंकन कनसलथटिंग क्लब द्वारा थकया गया| अतिं में इन दोनों राऊण्ि्स के अक िं ों को थमलाकर पररणाम घोथषत थकया जाएगा


5

PLAI अपोजी-2014 के दसू रे थदन IEEE-थवभाग द्वारा आयोथजत लले का दसू रा और अथिं तम चरण FD-2 क्यटू ी में रात 1 बजे आरम्भ हुआ। पहले चरण में आई थबट्थसयन व बाहरी कुल 15 टीमों में से 6 टीमें दसू रे चरण में पहुचिं सकी थी। इस गेम में एक तालाब था थजसमें ए.आई. वचअ मु ल बोट्स का उपयोग कर मछथलयााँ पकड़नी थीं। थजसने ज़्यादा मछथलयााँ पकड़ी या आथखरी तक गेम में बने रहा, वह थवजयी रहा। IEEE-थवभाग समशवयक राजेश कुमार थवजयवगीय से हुए वातामलाप में उशहोने कहा थक यह अपने-आप में एक अद्भुत इवेंट था जो अपोज़ी में पहली बार आयोथजत थकया गया था। अच्छी पथब्लथसटी न हो पाने की वजह से इस वषम दशमकों व प्रथतभाथगयों की सिंख्या कम रही परिंतु हमें उम्मीद है की अगले वषम प्रथतभाथगता में वृथि होगी। बॉब द शबल्डर

द यूजअल सस्पेक्ट

हर साल की तरह इस बार भी क्रैक द्वारा प्रस्ट्ततु बॉब द थबल्िर उत्साहपणू म तथा रोमािंच से भरा हुआ रहा। समाशयतः आपने काटूमन में देखा होगा थक एक रस्ट्सी कटी थजसके वजह से कुछ थगरा थफर उसके वजह से कुछ खल ु गया और थफर ये ऐसे ही चलता जाता है। कुछ ऐसा ही इसमें करना था। एक मैकाथनकल उपकरण तैयार करना था थजसमें अतिं में टी-टी बॉल को थमोकॉल ग्लास में थगरना चाथहए। इसे बनाने के थलए सामान क्रैक द्वारा थदये थे जैसे बोिम, आइसक्रीमथस्ट्टक्स, थमोकोल ग्लास , गब्ु बारा, रस्ट्सी, किंचे, अत्याथद। कुल 53 टीम्स ने रे थजस्ट्टर थकया। हर टीम में चार से पााँच लोग थे। रूम निं॰ 2217 में 1 से 4 बजे तक हो हल्ला मचा रहा। इस दौरान एक से एक अद्भुत आइथियास तथा प्रदशमन देखने को थमले। इन सबको creativity, execution of , success of completing the task, max no of energy conversions पर परखा गया।

इशफोममल्ज़ के हर इवैंट के तरह ही ‘आउट ऑफ द बॉक्स’ सोंच के साथ ही आयोथजत हुआ ‘द यजू वल सस्ट्पेक्ट’ – यह एक रहस्ट्य भेदी प्रथतयोथगता थी थजसका उद्येश्य आपके अदिं र के शेरलोक होम्स को उजागृत करना था। इसे दो चरण में रखा गया, पहले जहािं एलीथमनेशन राउिंि में लगभग 160 छात्रों में से 7 टीमों को दसू रे दौर के थलए चनु ा गया। पहले राउिंि में कुछ प्रश्न थदये गए थे जो थक एक मिमर के सरु ाग थे थजसके आधार पर प्रथतभाथगयों को 45 थमनट में दोथषयों को खोजना था। अगले चरण में असली घटना स्ट्थल तैयार थकए गए थजसमें हर टीम को पााँच थमनट के समय में अपनी पारखी नज़र का पररक्षण देते हुए परू ी जगह का मआ ु यना कर खनू ी को खोजना था और पता लगाना था थक खनू कै से थकया गया था। इवैंट में थहस्ट्सा लेने आई एक प्रथतभागी मानसी से हुई बातचीत में पता चला थक प्रथतयोथगता काफी मनोरिंजक और बाकी प्रथतयोथगताओ िं से हट कर था। आयोजक भी प्रथतभाथगता से काफी सिंतुि थदखे।

3िी टर े जर हं ट आई.एस.ए. द्वारा आयोथजत 3िी रेजर हटिं में छात्रों की सरहनीय प्रथतभाथगता देखने को थमली थजसमें 250 छात्र एक साथ दोपहर के वक़्त नींद छोड़कर आई.पी.सी. की ओर रुख करते हुए थदखे| यह एक 'soldier combat computer game' था थजसमे प्रथतभाथगयों को तीन चनु ौथतयााँ और तीन सवाल थदये गए थे| zombies को शहर पर हमला करने से पहले खत्म करना इस खेल की प्रमख ु चनु ौती थी| तीन चरण मे से पहला चरण मे zombies से दरू ी खोजने की थी| दसू री चनु ौती में कथरस्ट्तान मे 20 zombies को मारना की चनु ौती प्रथतभागीयों के सामने थी| अथिं तम चरण में इस सफल सदिं श े को अपने military base तक पहुचिं ाना होता है| सयिं ोजक राके श जी नें हमें बताया की खेल में बहुत मोड़-मड़ु ाव थे जैसे की गोथलयों के खत्म होने पर आपको चीट कोि्स का इस्ट्तेमाल करना होता है जो की चरण दो में बताया जाता है| ईवेंट प्रथतभाथगओ िं को काफी पसिंद आया और मनोरिंजक लगा|


6

रोबोट् स एट वॉर अपोजी ’14 के तीसरे थदन आयोथजत instrumentation forum और EEE association द्वारा आयोथजत रोबोट्स एट वॉर शाम 4 बजे से रात 12 बजे तक चला| इसमें कुल 22 टीमों ने भाग लीया थजसमे से एक टीम थबट्थसयन टीम थी| इस ईवेंट का प्रमख ु थवषय रोबोट्स की अपने अथस्ट्तत्व के थलए जिंग थी| रोबोट्स पर कई थवथनदेश थनधामररत थकए गए थे जैसे रोबोट का आकार 750*750*1000 (लिंबाई,चौड़ाई,ऊिंचाई), 30 वोल्ट्स और भार 40kg| और 20*20ft की फील्ि थी| प्रथतभाथगओ िं को अक िं देने के थलए प्रथतद्वदिं ी रोबोट को सीमारे खा के बाहर ले जाने पर या गथतहीन करने या थफर रोबोट के कुछ अक िं थवकृ त कर देने पर| ये परू े ईवेंट नोकाउट था थजसमें एक राउिंि मे 8 थमनट थे| जहािं कुछ क्षणों के थलए दशमकों की ताथलयााँ व उत्साह से नवाज़ा गया वहीं यह जोश प्रथतयोथगता की शरुु वात में में कम पड़ जाता था| ईवेंट में बाहरी छत्रों की प्रथतभाथगता सरहनीय थी| ले ज़र एं ि फायर शो पररवतमन समय की मााँग है। कुछ अतिं राल में हर थकसी को पररवतमन की आवश्यकता पिती है। थबट्स थपलानी, थपलानी कै म्पस में भी ‚पररवतमन‛ ने एक अद्भुत रूप में दस्ट्तक दी। करीबन दो वषम पवू म प्रोजेक्ट ‚पररवतमन‛ का घोषण थकया गया। ‚पररवतमन‛ नामक प्रोजेक्ट थबट्स थपलानी में एक ऐसा अवसर लेकर आया थजससे थबट्स थपलानी में सरिं चनात्मक थवकास हुआ। इस प्रोजेक्ट में नई थशक्षण तकनीथकयों से पणू म नई शैली के शैक्षथणक भवन का थनमामण थकया गया। इस प्रोजेक्ट को सम्पशन करने के थलए लगभग 18 माह का समय लगा। अपोजी 2014 के तीसरे थदन, 29 माचम को इस नए शैक्षथणक भवन का उद्घाटन थकया गया। शाम को करीब 10:30 बजे ऑिी में इस प्रोजेक्ट के बारे में वीथियो के माध्यम से छात्रों को अवगत करवाया गया। थफर 11 बजे इस नव-थनथममत भवन के ‚रोटुिंिा‛ में मनोरिंजक कायमक्रम का आयोजन थकया गया। इस कायमक्रम का आनदिं प्राि करने के थलए थबट्थसयसिं भारी सख्िं या में जटु े थे। अध्यापकगण से लेकर छात्र समहू इसके थलए काफी उत्साथहत थे। दशमक हर सम्भव जगह पाकर इसको देख रहे थे। सबसे पहले ‚लेज़र शो‛ में प्रोजेक्टर के द्वारा अलग-अलग प्रकार की प्रकृ थतयााँ बनाई गई। ये कला मनमोहक थी और अधिं कार को चीरती हुई रिंगीन लेज़र दशमकों को काफी लुभावनी लग रही थी। इसके बाद ‚फायर शो‛ की बारी थी। सब दशमक इसका आनिंद पास से उिाना चाहते थे थजसके कारण भीि में हलचल भी मच गई थी। जैसे ही यह शो आरम्भ हुआ दशमकों की ताथलयााँ सनु ाई देने लगी। कलाकार आग से तो मानो खेल रहा था। उसके चेहरे पर िर का तो कोई भी सिंकेत नहीं था। उसकी प्रस्ट्तुथत वाकई में काथबल-ए-तारीफ थी। इस शो में कई प्रकार की कला प्रस्ट्ततु की गई जो सब की सब सराहनीय थीं। वहााँ पर मौजदू गािम टीम ने भी प्रशिंसनीय कायम थकया। उशहोनें रोटुिंिा में अनश ु ासन बनाए रखा और दशमकों की सरु क्षा का परू ा ध्यान रखा। दशमक भी कलाकार का परू ी तरह से उत्साह बढा रहे थे। परू ा कायमक्रम बड़ी ही सरलता से आयोथजत हुआ और प्रवाहमयी था।


7

कोि ररले एसोथसएशन फॉर किंलयथू टिंग मशीनरी द्वारा 29 माचम को 'कोि ररले ' नामक प्रथतयोथगता का आयोजन थकया गया। इस प्रथतयोथगता में प्रथतभाथगयों की कोथििंग में सक्षमता को परखा गया था। इस प्रथतयोथगता में भाग लेने के थलए 1 टीम में 3 लोगों का होना आवश्यक था। प्रथतभाथगयों में इस प्रथतयोथगता को लेकर इतना उत्साह था थक वे समय से पवू म ही पजिं ीकरण कराने हेतु पहुचाँ गये थे। 30 टीमों ने सफलतापवू मक पिंजीकरण करवाके प्रथतयोथगता में भाग थलया। प्रथतयोथगता को 2 थहस्ट्सों में बााँटा गया। टीम के 1 सदस्ट्य को कोथििंग के ३ सवाल थदए गये, उसी दौरान बाकी 2 प्रथतभाथगयों को एथलटट्यिू के सवाल थदए गये। कुछ अतिं राल बाद दसू रे प्रथतभागी को कोथििंग करने को कहा गया। तीनों प्रथतभाथगयों को थमलकर कोथििंग के 3प्रशन हल करने थे। अतिं में थवजेता घोथषत करने के थलए दोनों अक िं ो को जोड़ा गया। अनरै वेल थबट्स थपलानी के बायोलॉजी थवभाग द्वारा 29 माचम को प्रातः 11 बजे 'अनरै वेल' का आयोजन थकया गया। इस प्रथतयोथगता के अतिं गमत प्रथतभाथगयों के जीवथवज्ञान के ज्ञान के साथ ही साथ गथणत में तत्परता की भी परीक्षा ली गयी। इस इवेंट में बायोलॉजी थवभाग ने बताया की थवज्ञान की सभी शाखाएिं एकदसू रे से सम्बिंथधत हैं। मानव शरीर की कायमप्रणाली का थनयिंत्रण गथणत , भौथतथक, एविं रसायनशास्त्र के थसिािंतों के द्वारा थकस प्रकार होता है, इसे समझाने के थलये प्रश्न पत्र का थनमामण प्रभावी रूप से थकया गया था| गथणत मे जहााँ differential equation पर आधाररत कुछ प्रश्न थे तो भौथतकी मे viscocity पर। शरीर के कोथशकाओ िं पर continuity के समीकरण को समझाने के थलये भी कुछ प्रश्न शाथमल थकये गये थे| शरीर मे रि प्रवाह के दौरान होने वाले potential difference पर आधाररत प्रश्न जैसे थवज्ञान के जटील सवलों को आसान समीकरणों के द्वारा कै से सल ु झाया जा सकता है यह कुशलतापवू मक थदखाया गया।

अप इन द एअर ASME द्वारा आयोथजत ‚अप इन द एअर‛ में प्रथतभाथगयों की सिंख़्या सराहनीय रही। प्रथतयोथगता में प्रथतभागी दलों को अपने ललेन के पजू ो को उसी समयस्ट्थल पर एकथत्रत कर ललेन का थनमामण करना था और उसकी उड़न क्षमता का पररक्षण देना था। प्रथतयोथगता में दो चरण पार कर सबसे अथधक अक िं प्राि करने वाले दल ् को थवजेता घोथषत थकया गया। पहले दौर में प्रथतभागी को एक थमनट तक ललेन उड़ाना था और उड़ान के दोरान उशहे एक एररयल कलाबाज़ी करके थदखानी थी। प्रथतभाथगयों को ‘ऑटोमैथटक टेक ऑफ’ के 50 अक िं , 1 थमनट की उड़ान को परू ा करने के 200 अक िं और सरु थक्षत लैथड़गिं के 50 अक िं थदये गये। सभी प्रथतभाथगयों के ललेन में पथहये न होने के कारण थकसी भी टीम को ऑटोमैथटक टेक ऑफ के अक िं नहीं थदये गए। दसू रे दौर में प्रथतभाथगयों को दो थमनट की उड़ान में हवाई कलाबाझी थदखानी थी। जो थजतने ज्यादा कलाबाझी थदखाएगा उसे उतने ही ज्यादा अक िं प्राि होगें। 360 शिग्री इं जीशनयररं ग के थमकल इजिं ीशयररिंग असोथसयशन द्वारा आयोथजत यह कायमक्रम ई॰टी॰ में आयोथजत थकया गया था। इस कायमक्रम का पहला चरण ऑनलाइन था। इस कायमक्रम के सिंयोजक ‘सय्यद रहीम’ ने बताया की इसके दसू रा चरण में, जो की 29 माचम को आयाओथजत थकया गया था, छात्रों से इजिं ीथनयररिंग के थवथभशन क्षेत्रों जैसे थक थसथवल, के थमकल, मेकैथनकल इजिं ीशयररिंग पर सवाल पछू े जाएिंगे। प्रथतभाथगयों को टीम बनाकर 60 प्रशनों को एक घटिं े के भीतर हल करने थे।

प्रथतयोथगता के कुछ प्रश्नो ने प्रथतभाथगयो को उलझन मे िाले रखा.प्रथतभागी अथधकतम 3 सदस्ट्यो के समहू के रूप मे भाग ले सकते थे.बहुथवकथल्पय प्रश्नो मे सही उत्तर के थलये 3 अक िं थे जबकी गलत उत्तर के थलये -1 अक िं की प्रणाली को अपनाया गया था, कुछ प्रश्नो के उत्तर थलथखत रूप मे देने थे| इस कायमक्रम का तीसरा चरण 30 आज सबु ह 10 बजे आयोथजत थकया जाएगा। इस प्रकार ये आयोजन engineering छात्रो के मन मे इसमें प्रथतभाथगयों को एक प्रोब्लेम स्ट्टेटमेंट थदया जाएगा जो उशहे अपने इजिं ीथनयररिंग जीवथवज्ञानके थलये अपना स्ट्थान बनाने मे सफल रहा| ज्ञान से हल करने होंगे। छात्रो ने भी इस प्रथतयोथगता की खबू सराहना की |


8

शथंक अगेन , शदवस 2 जॉन बेक के कैमरों की नजर से पन ु कचल्पना दथु नया एक रिंगमचिं है, हम उस रिंगमिंच की किपतु थलयााँ है| हमारे द्वारा इस रिंगमचिं पर व्यतीत थकया गया हर एक क्षण महत्वपणू म है, इन क्षणों में कुछ ऐसे सनु हरे पल होते हैं, थजशहें हम सदा के थलए अपनी यादों की दथु नया में सजिं ोना चाहते हैं| इस आधथु नक यगु में इन पलों को सजिं ोने के थलए हम ‘कै मरा’ नामक यशत्र की सहायता लेते हैं| इस रिंगमचिं में कुछ ऐसे भी थकरदार हैं जो कुछ थवशेष पलों को अपने कै मरे के ज़ररये इस दथु नया के समक्ष रखते हैं| आज हमें मौका थमला एक ऐसे ही शख्स से रूबरू होने का, जो थपछले 23 वषों से मिंगल ग्रह की दथु नया को हमारे सामने अपने जादईु कै मरे से थचत्रािंथकत कर रहा है| शथनवार की शाम सभागार में अपने जादईु कै मरे के अनभु व तथा अपने थजिंदगी से जड़ु े कुछ रोमािंचक पलों की यादों के साथ, थथिंक अगेन के व्याख्यान में हाथजर हुए थे नासा के सथु वख्यात फोटोग्राफी थवभाग के थनदेशक, जॉन बेक हॉफमैन| जॉन बेक होफमैन बहुमख ु ी प्रथतभा के धनी है, यह फोटोग्राफी के साथ-साथ अथभनय, सिंगीत और लेखन की दथु नया में भी सथक्रय है| अपने व्याख्यान में उशहोंने बताया थक हॉलीविु की जेम्स कै मरून द्वारा थनदेथशत ‘एथलअसिं ऑफ द िीप’ तथा एक अशय ‘वेलकम टू द मासम’ नामक थफल्मों में उनके काम प्रदथशमत हो चक ु े हैं| प्रथम बार भारतवषम की यात्रा से उत्साथहत जॉन बेक थबट्स के कै म्पस से काफी प्रभाथवत थदखे और व्याख्यान के दौरान कई बार तारीफ़ के पल ु भी बााँधे| अपनी थजिंदगी के अनभु वों को बााँटते हुए जॉन बेक ने कहा थक कई बार थजिंदगी में ऐसे अवसर आते हैं जब आपके समक्ष थकसी कायम के थलए के वल एक मौका होता है| अगर आपने उस मौके को गाँवाया तो हो सकता है थक आपको दोबारा कोई मौका ही न थमले| मगिं ल अथभयान के दौरान बनाये गए ७ थमनट के अथवस्ट्मरणीय पलों को जॉन बेक अपने अब तक के जीवन में थकये गए समस्ट्त कायों में सवमश्रेष्ठ मानते है| मिंगल अथभयान के कुछ और अनभु वों को बााँटते हुए उशहोंने बताया थक मगिं ल एक खतरनाक ग्रह है, क्योंथक नासा तथा थवश्व की अशय सिंस्ट्थाओ िं द्वारा मिंगल पर भेजे गए 50 में से मात्र 17 यान ही सफलतापवू मक अपने कायम को अजिं ाम दे पाए हैं| वतममान में जॉन बेक थिस्ट्कवरी चैनल के साथ मिंगल अथभयान पर एक टीवी श्रृख िं ला बना रहे हैं, थजससे जड़ु े कुछ रोचक अनभु वों का भी उशहोंने अपने व्याख्यान में थजक्र थकया| जॉन बेक बचपन से ही काल्पथनक दथु नया में खोये रहते थे और इसी कल्पना की दथु नया ने उशहें सगिं ीत तथा अथभनय की तरफ आकथषमत थकया| आज इस व्याख्यान में दशमकों की उपथस्ट्थथत तथा उनकी व्याख्यान में सहभाथगता सराहनीय थी, व्याख्यान के अतिं में पररसर थनदेशक जी. रघरु ामा ने जॉन बेक को स्ट्मथृ त थचशह देकर सम्माथनत थकया एविं आयोजकों ने उनका आभार व्यि थकया| जॉन बेक द्वारा अपने जीवन पर आधाररत तथा सफलता पर आधाररत व्याख्यान ने थनथित रूप से दशमकों के मन में एक अलग छाप छोड़ी, जो उनके आने वाले थजदिं गी के सघिं षों में उनका सदैव मागमदशमन करे गी|

रयान वड ु वडच हममें से हर इसिं ान में एक छुपी हुई प्रथतभा होती है,वे जो इस प्रथतभा को समय रहते पहचान लेते हैं और अपने परू े सामर्थयम से इसे थवकथसत करते हैं, दथु नया पर अपनी छाप छोड़ जाते हैं| दथु नया के बनाए नक़्शे-कदम पर ना चलकर अपने थदल की सनु ने वाले ये लोग जीने के नए अदिं ाज़ थसखा जाते हैं| ऐसी ही एक शथख्सयत हैं रे यान विु विम, शथनवार शाम थजनसे हमें रूबरू होने का मौक़ा थमला ‘थथिंक अगेन’ के दसू रे थदन| विु विम को बचपन से ही थचत्रकला का बेहद शौक है| थबट्थसयशस का आभार जताते हुए उशहोंने कहा थक मैं कै म्पस भ्रमण के दौरान व यहााँ के तकनीकी माहौल से पररथचत होकर उशहें सदिं हे था थक श्रोताओ िं को उनका व्याख्यान पसदिं आएगा या नहीं, परशतु इनॉगरे शन में यहााँ के छात्रों का कायम देखकर उनका सिंदहे दरू हो गया| अपने बचपन का एक थकस्ट्सा


9

सनु ाते हुए उशहोंने कहा थक बचपन में ‘इथिं ियाना जोशस एिंि द टेम्पल ऑफ िूम’ देखकर उशहोंने भारत की एक िरावनी छथव बना ली थी| उशहोंने कहा थक ‘मैं भारत के बारे में ज्यादा तो नहीं जानता पर अपना पसिंदीदा भोजन मैंने यहीं थकया है|’ अपनी सफलता की किंु जी समझाने के थलए एक उदाहरण देते हुए उशहोंने कहा थक ‘थजस काम को आप पसदिं करो वही करना चाथहए, थफर लोग उसके बारे में कुछ भी क्यों ना कहे|’ अपने व्याख्यान के दौरान स्ट्वथनथममत एथनमेशशस और उनके बनने की प्रथक्रया के वीथियोज़ थदखाते हुए उशहोंने एथनमेशशस की दथु नया को करीब से देखने का मौक़ा थदया| इस व्याख्यान में दशमकों की उपथस्ट्थथत अच्छी थी परशतु उशहें यह पहले व्याख्यान के मक ु ाबले कुछ कम रुथचकर लगा परशतु एथनमेशशस के शौकीनों को यह काफी पसदिं आया| शैक्षथणक कायों से इतर रूथच रखने वालों के थलए यह काफी प्रेरणाप्रद रहा|

ऊब्ले क का जादू क्रेक एवं फार्ाा असॉक प्रस्तुत करते हैं:-

Oobleck

फामाम असॉक और क्रेक द्वारा बनाये गए ‚नॉन-शयटु ोनीयन फ्लिू ‛ के पल ू का लोगों ने जम-कर लत्ु फ़ उिाया| देश में पहली बार बनाया गया यह पल ू एम लॉिंशस में शाम चार बजे से सात बजे तक लगाया गया था, थजसमें कोई भी एरिं ी फीस नहीं थी| िोपी के सौजशय से लोग पल ू पर चलते हुए अपनी फोटो थखचाते नज़र आये| इवेंट के दौरान एक यवु क का चश्मा पल ू में थगर गया| आयोजकों की सहायता से काफी मश्शकत के बाद वह चश्मा थमला| इवेंट की सफलता का अदिं ाज़ा इसमें आये लोगों के उत्साह से लगाया जा सकता था| यह इवेंट आज भी शाम 7 बजे तक एम लॉशस में चलेगा।


10

स्पॉन्ससन

Pravaah 30 march 2014  

प्रवाह अपोजी दिवस 3

Read more
Read more
Similar to
Popular now
Just for you