Page 1

गम ु नामी मे खो गए पािकिस्तानी िक्रिकिेट किे 'पापाजी' िकेक्रिकेट की सबसे िविविादास्पद टीम पािकेकस्तान ने इस खेल को कई महान िकेक्रिकेटर भी िदए है। आजादी के समय जब सभी को पॉलिलिटकल स्टे िबिलटी हािसल करने की जल्दी थी, ऐसे समय मे पािकेकस्तान िकेक्रिकेट को नया जीविन दे ने का काम िकेकया अब्दल ु हफीज करदार ने। अब्दल ु नाम सा हो गया है । आइए, इस मौके पर जानते है पािकेकस्तानी ु करदार का नाम िकेक्रिकेट जगत मे गम िकेक्रिकेट के िपता कहे जाने विाले इस िखलाड़ी से जड़ ु ी खास बाते ... करदार

का

जन्म

17

जनविरी 1925 को पंजाब के लाहौर शहर मे हुआ था। इस्लािमया

कॉललेज

एज्यूकेशन

लेने

से विाले

करदार आजादी से पहले भारतीय िकेक्रिकेट टीम का िहस्सा थे। उन्होंने भारत की ओर से खेलते हुए 3 टे स्ट मैचों मे 80 रन बनाए। बंटविारे के बाद पािकेकस्तान को विल्ड क्र िकेक्रिकेट मे पहचान िदलाने मे करदार ने अहम रोल िनभाया। उन्हे फादर ऑफ पािकेकस्तान िकेक्रिकेट के रूप मे भी जाना जाता है । आजादी के बाद पािकेकस्तान ने सबसे पहली टे स्ट सीरीज भारत के िखलाफ खेली। उस पाक टीम की कप्तानी करदार ने की थी। सबसे पहला टे स्ट मुकाबला 16 अक्टूबर 1952 को िदल्ली मे खेला गया। लाला अमरनाथ की अगवि ु ाई विाली भारतीय टीम ने करदारा एंड क् कंपनी को 2-1 से हराया। हालांिकेक, पािकेकस्तान यह सीरीज हार गया था, िकेफर भी करदारा की ही कप्तानी मे टीम को टे स्ट इितहास की पहली जीत लखनऊ मे िमली थी। करदार की कप्तानी मे पािकेकस्तान ने कुल 23 टे स्ट मैच खेले, इसमे से 6 मैच मे टीम को जीत िमली, तो 6 मैचों मे हार का सामना करना पड़ा। 11 मैच ड्रा रहे ।

For more news visit at Cricindiaonline.in


For More Hindi news Follow us on face book and twitter


गुमनामी में खो गए पाकिस्तानी क्रिकेट के 'पापाजी'  

Cricindiaonline provides you the latest news of cricket in Hindi so that you can easily and quickly get updates. It is better to explore the...

Read more
Read more
Similar to
Popular now
Just for you