Page 1

भारेगाव (भहायाष्ट्र )—ऩोलरस ठाणे भें ग्राभीण औय शहयी सबी ऩोलरस जवानो को तनाव भक्ु तत ऩय कामयक्रभ आमोजक –स्थानीम ब्रह्भाकुभायीज राईट हाउस

भारेगाव (भहायाष्ट्र) ऩोलरस ननयऺक –श्री गजानन याजभाने भुख्म वतता ---फी के बगवान ् बाई भाउॊ ट आफू ववषम – ऩोलरस जीवन भें तनाव भक्ु तत फी के शकॊु तरा फहन प्रबायी राईट हाउस भारेगाव फीके भभता फहन प्रबायी ब्रह्भाकुभायीज भारेगाव कैं ऩ सेंटय (भहायाष्ट्र)

कापी सख्मा भें ऩोलरस जवान बी उऩक्स्थत थे इस अवसय ऩय फी के बगवान ् बाई ने कहा कक हभ ऩोलरस होने के नाते दस ु यो को अनुशासन लसखाते है तो


ऩहरे हभे अनश ु ासन भें यहना होगा तनाव का बू फड़ा कणय हभाये गरत कभय इसलरए अऩने कभो ऩय ध्मन दे ऩोलरस होने के नाते हभाये भें दे श प्रेभ हो सत्मता इभानदायी हो कोइ

व्मसन नशा न हो भाहत्भा गाॉधी के

ऩास सत्मता ईभानदायी मह शस्र थे क्जस फर ऩय इग्रेजो को बगामा एसे हभे बी स्थूर शस्र के साथ गण ु रूऩी हथथमाय बी जरूयी है कपक्जकरी के साथ हभायी भेंटर हे ल्थ बी आच्ची हो तफ हभ दे श कक सेवा कय सकेगे उन्होंने कहा कक सकायात्भक सोच द्वाया ववऩरयत ऩरयक्स्थनत भें हरचर से फाख सकते है ननयाशा भें बी आशा की ककयण

ददखने रगती है। अऩनी सभस्मा को

सभाप्त कयने एवॊ सपर जीवन जीने के लरए ववचायों को सकायात्भक फनाने की फहुत आवश्मकता है । उन्होंने

कहा कक सभस्माओॊ का कायण ढूढने की फजाए ननवायण ढॊ ूूढ़े।उन्होंने कहा कक सभस्मा का थचॊतन कयने से तनाव की उत्ऩवि होती है । भन के ववचायों का प्रबाव वातावयण ऩेड़-ऩौधों तथा दस ू यों व स्वमॊ ऩय ऩड़ता है ।


मदद हभाये ववचाय सकायात्भ है तो उसकासकायात्भक प्रबाव ऩड़ेगा। उन्होंने फतामा कक जीवन को योगभुतत,दीघायमु, शाॊत व सपर फनाने के लरएहभें सफसे ऩहरे ववचायों को सकायात्भक फनाना चादहए। याजमोगी

बगवान बाई ने कहा कक सकायात्भक ववचाय से सभस्मा सभाधान भें फदर जाती है । एक दस ू यों के प्रनत सकायातभक ववचाय यखने से आऩसीबाई चाया फना यहता है । उन्होंने सत्सॊग एवॊ

आध्माक्त्भक ऻान को सकायात्भक सोच के लरए जस्री फताते हुए कहा कक हभ अऩने आत्भफर से अऩना भनोफर फढ़ा सकते है । सत्सॊग के द्वाया प्राप्त ऻान

मालेगाव (महाराष्ट्र )—पोलिस ठाणे में ग्रामीण और शहरी सभी पोलिस जवानो को तनाव मुक्ति पर कार्यक्रम  
मालेगाव (महाराष्ट्र )—पोलिस ठाणे में ग्रामीण और शहरी सभी पोलिस जवानो को तनाव मुक्ति पर कार्यक्रम  
Advertisement