Page 1

ऱोणी प्रवरा (महाराष्ट्र) ---प्रवरा कन्या ववद्या मंदिर और कनिष्ट्ट महाववद्याऱय प्रव्रािगर ऱोणी महाराष्टष्ट्र में

िैनिक मूल्य पर काययक्रम

आयोजक –ष्टथािीय ब्रह्माकुमारीज ऱोणी प्रवरा (महाराष्ट्र) --मुख्य वक्िा ---बी के भगवाि ् भाई माउं ट आबू ववषय –िैनिक मूल्यों से व्यक्क्ित्व ववकास उप वप्रंससपऱ ---श्रीमिी ऍम के पावऱ व्याखािा---डॉ श्रीमिी ज्योनि ठाकरे व्यखािा—श्री रमेश िांगरे बी के आशा बहि प्रभारी

ब्रह्माकुमारीज ऱोणी प्रवरा

(महाराष्ट्र) --बी के राजेश्वर भाई भगवाि भाई िे कहा कक गण ु वाि व्यक्क्ि िे श की सम्पनि हैं। उन्होंिे कहा कक ववद्यार्थययोंंं के सवाांर्गण


ववकास के सऱए भौनिक सशऺा के साथ-साथ िैनिक सशऺा की भी आवश्यकिा हैँ। चररत्र निमायण ही सशऺा का मूऱ उद्िे श्य होिा हैं। उन्होंिे कहा कक भोनिक सशऺा

भौनिकिा की ओर

धकेऱ रही भौनिक सशऺा की बजाय इंसाि को िैनिक सशऺा की आवश्यकिा हैं।िैनिक सशऺा से िैनिकिा आएगी | उन्होंिे कहा िैनिक मूल्यों की कमी ही समाज के

हर समष्टया का मऱ ू कारण हैं। इससऱए ववद्यार्थययों

को मल् ू यांकि,आचरण,अिक ु रण,ऱेखि,व्यवहाररक ऻाि इत्यादि पर जोर िे िा होगा। उन्होंिे कहा कक अऻाि रूपी अंधकार अथवा असत्य से ऻाि रूपी प्रकाश अथवा सत्य की ओर ऱे जाए,वहीं सच्चा ऻाि हैं। उन्होंिे कहा कक जब िक हमारे व्यवहाररक जीवि में परोपकार,सेवाभाव,त्याग,उिारिा,पववत्रिा,सहिशीऱिा,िम्र िा,धैयि य ा,सत्यिा,ईमाििारी, आदि सद्गुण िहीं आिे। िब िक हमारी सशऺा अधूरी हैं। उन्होंिे कहा कक समाज


अमूिय होिा हैं और प्रेम,सद्भाविा,भाित्ृ व,िैनिकिा एवं मािवीय सद्गण ु ों से सचासऱि होिा हैं। भगवाि भाई िे कहा कक हमें अपिे दृक्ष्ट्टकोण को सकारात्मक बिािे के सऱए ऻाि की आवश्यकिा हैं। दृक्ष्ट्टकोण सकारात्मक रहिे पर मिुष्ट्य हर पररक्ष्टथनि में सख ु ी रह सकिा हैं। उन्होंिे व्यसिों से िरू रहिे पर भी जोर दिया।

लोणी प्रवरा (महाराष्ट्र) प्रवरा कन्या विद्या मंदिर और कनिष्ट महाविद्यालय प्रव्रानगर लोणी महारास्ष्ट्  
लोणी प्रवरा (महाराष्ट्र) प्रवरा कन्या विद्या मंदिर और कनिष्ट महाविद्यालय प्रव्रानगर लोणी महारास्ष्ट्  
Advertisement