Page 1

भाऱकी

(कनााटक) में आददत्य ऩी यु काऱेज

गज ु म्मा बी एड काऱेज में आदर्ा शर्ऺक और सकारत्मक च त िं न विषय ऩर सेशमनार आयोजक –स्थानीय ब्रह्माकुमारीज भाऱकी (कनााटक) मख् ु य िक्ता ---बी के भगिान ् भाई माउिं ट आबू विषय –आदर्ा शर्ऺक और सकारत्मक च न्तन वरिंशसऩऱ –श्री नागेर् यरनाऱे बीके राधा बहन रभारी ब्रह्माकुमारीज भाऱकी (कनााटक) बाबुराम गामा िकीऱ भाऱकी विट्टऱ अहमदाबादे िकीऱ


इस अिसर ऩर भगिान ् भाई ने बी एड काऱेज के भािी शर्ऺक रशर्ऺनाथी को

कहा की भावी

समाज को आदर्श बनाना चाहते हो तो छात्राओं को भौततक शर्ऺा के साथ नैततक आचरण ऩर भी उनके ऊऩर ध्यान दे ने की आवश्यकता है । उन्होंने कहा कक बबगड़ती ऩररस्थथतत को दे खते हुए समाज को सध ु ारने की बहुत आवश्यकता हैं। उन्होंने कहा कक शर्ऺक वही है जो अऩने जीवन की धारणाओं से दस ू रों को शर्ऺा दे ता है । धारणाओं से वाणी, कमश, व्यवहार और व्यस्ततत्व में तनखार आ जाता है । भगवान भाई ने कहा कक शर्ऺा दे ने के बाद भी अगर बच्चे बबग$ड रहे हैं उसका मतऱब मतू तशकार में भी


कुछ कमी है । उन्होंने कहा कक शर्ऺक के अंदर के जो संथकार है उनका ववद्याथी अनक ु रण करते हे । भगवान भाई ने कहा कक शर्ऺकों के हाव भाव उठना, बोऱना, चऱना, व्यवहार करना इन बातो का असर भी बच्चों के जीवन में ऩ$ढता है । उन्होंने कहा कक जब समाज को शर्क्षऺत करने व शर्खा दे ने के थवरूऩ को बदऱने की आवश्यकता है , थवयं के आचारण से शर्ऺा दे ने की आवश्यकता है ।

भालकी (कर्नाटक) में आदित्य पी यु कालेज गुजम्मा बी एड कालेज में आदर्श शिक्षक और सकारत्मक चिंतन विषय प  
भालकी (कर्नाटक) में आदित्य पी यु कालेज गुजम्मा बी एड कालेज में आदर्श शिक्षक और सकारत्मक चिंतन विषय प  
Advertisement