Page 1

जगाधरी

(हररयाणा) – में सेठ जय प्रकाश ऩॉलऱटे क्ननक

में नैतिक लशऺा का जीवन में ऩर काययक्रम आयोजक –स्थानीय सेवाकेंद्र जगाधरी (हररयाणा) मख् ु य वनिा ---बी के भगवान ् भाई माउं ट आबू ववषय – नैतिक लशऺा जीवन में महत्व वप्रंलसऩऱ –श्री अतनऱ बुधधराज बी के सुषमा जगाधरी हररयाणा बी के िेजस असंध हररयाणा इस अवसर ऩर बी के भगवान ् भाई ने कहा कक सख ु ी जीवन के लऱए भौतिक लशऺा के साथ नैतिक लशऺा भी जरूरी है । भौतिकलशऺा से हम रोजगार प्राप्ि कर सकिे हैं, ऱेककन ऩररवार, समाज, काययस्थऱ में ऩरे शानी या चुनौिी का मुकाबऱा नहीं कर सकिे।उनि उद्गार ब्रह्माकुमारी माउं ट आबू के बी के भगवान ् भाई ने कहा नैतिक मल् ू यों का महत्व ववषय ऩर बोऱिे हुए कहा उन्होंने कहा की

नैतिक मल् ू यों से व्यक्नित्व में तनखार,


व्यवहार में सध ु ार आिा है ।नैतिक मूल्यों का ह्रास व्यक्निगि, सामाक्जक, राष्ट्रीय समस्या का मऱ ू कारण है । समाज सध ु ार के लऱए नैतिक मूल्य जरूरी है ।उन्होंने कहा कक नैतिक लशऺा की धारणा से, आंिररक सशनिीकरण से इच्छाओं को कम कर भौतिकवाद की आंधी से बचा जा सकिा है । व्यक्नि का आचरण उसकी जुबान से ज्यादा िेज बोऱिा है । ऱोग जो कुछ आंख से दे खिे हैं। उसी की नकऱ करिे हैं। जब िक हम अऩने जीवन में मूल्यों और प्राथलमकिा का तनधायरण नहीं करें गे, अऩने लऱए आचार संहहिा नहीं बनाएंगे िब िक हम चुनौतियों का मक ु ाबऱा नहीं कर सकिे। चररत्र उत्थान और आंिररक शक्नियों के ववकास के लऱए आचार संहहिा जरूरी है । उन्होंनेेे अंि में नैतिक मल् ू यों का स्रोि आध्यलमत्किा को बिाया। जब िक आध्याक्त्मकिा को नहीं अऩनाएंगे जीवन में मूल्यों की धारणा संभव नहीं है ।

जगाधरी (हरियाणा) – में सेठ जय प्रकाश पॉलिटेक्निक में नैतिक शिक्षा का जीवन में पर कार्यक्रम  
जगाधरी (हरियाणा) – में सेठ जय प्रकाश पॉलिटेक्निक में नैतिक शिक्षा का जीवन में पर कार्यक्रम  
Advertisement