Page 1

केन्द्रीय हिन्द्दी संस्थान /


िंदेश

मानव संसाधन ववकास मंत्री एवं अध्यक्ष, केन्द्रीय हिन्द्दी शिक्षर्ण मंडऱ

मसझे यि जानकर प्रसन्द्नता िसई हक केन्द्रीय हिन्द्दी

शिक्षर्ण मण्डऱ के ऩचास वर्ष ऩूरे िोने के उऩऱक्ष्य में स्वर्णष जयंती के अवसर ऩर केन्द्रीय हिन्द्दी संस्थान द्वारा ‘अगवानी’ नामक ऱघस ऩसषस्तका प्रकाशित िो रिी िै । केन्द्रीय हिन्द्दी संस्थान दे ि-ववदे ि में हिन्द्दी के प्रचार और प्रसार के शऱए एक मित्वऩूर्णष संस्थान िै । यि संस्थान और इसके ववशिन्द्न केन्द्र हिन्द्दी शिक्षर्ण में गसर्णवत्ता ऱाने के शऱए शनरं तर सहिय िैं । मैं कामना करता िूं हक हिन्द्दी के ववश्वव्याऩी प्रचार-प्रसार में यि संस्थान आधसशनकतम शिक्षर्ण तकनीकों का प्रयोग

करते िसए हिन्द्दी को िववष्य की समृद्ध िार्ा के रूऩ में प्रस्तसत करने में सक्षम रिे गा। स्वर्णष जयंती की ‘अगवानी’ ऩर मेरी िसिकामनाएं।

कपिऱ सिब्बऱ

2 / अगवानी स्वर्णँ जयंती की


एक कववता

केन्द्रीय हिन्द्दी संस्थान / 3


िंदेश

प्रो. अिोक चिधर

संस्थाएं सतत हियािीऱ रिती िैं । अचानक ऩता चऱता िै हक शऱषजए काम करते करते ऩचास साऱ िो गए। केन्द्रीय हिन्द्दी संस्थान की स्वर्णष जयंती की अगवानी के अवसर ऩर यि प्रकािन एक स्वागत घोर् की तरि िै । श्री कवऩऱ शसब्बऱ एक कवव रृदय व्यवि िैं । िासन-प्रिासन की ऱम्बी अनसिव प्रहिया में संऱग्न रिने के बावजूद िी रचनात्मक गशतववशधयों के शऱए िी समय शनकाऱते िैं । शनरं तर काव्य ऱेखन करते िैं । नई सूचना-प्रौद्यौशगकी के प्रशत उनके मन में बिसत खसऱा सोच िै और वे चािते िैं हक

हिन्द्दी के प्रचार और प्रसार के शऱए केन्द्रीय हिन्द्दी संस्थान में सूचना और प्रौद्यौशगकी के शऱए नए सॉफ्टवेयसष का प्रयोग करते िसए। न केवऱ अऩने वेबसाइट को ससदृढ़ और हद्विावर्क बनाएं। बषकक हिन्द्दी शिक्षर्ण के शऱए नए प्रोग्राम और ऩैकेज तैयार करें । 24 नवंबर 2010 को ववदे िी छात्रों के शऱए ‘अंतरराष्ट्रीय हिन्द्दी शिक्षर्ण ऩाठ्यिम’ का उद्घाटन िसआ था। उसमें िमारे शनदे िक प्रो. के. वबजय कसमार ने संस्थान की अब तक की गशतववशधयों ऩर प्रकाि डाऱा और मैंने िी एक ऩावर-ऩाइं ट प्रस्तसशत के माध्यम से

िववष्य की योजनाओं की एक रूऩ-रे खा प्रस्तसत की। अगवानी में आऩको इन दोनों से रुब-रु िोने का मौका शमऱेगा। साथ िी कायषिम की झऱहकयां िी दे ख ऩाएंगे। अगवानी के प्रकािन ऩर मेरी िाहदष क िसिकामनाएं।

अशोक चक्रधर

4 / अगवानी स्वर्णँ जयंती की


िंदेश

डॉ. के. ववजय कसमार

19 माचष 2011 को केन्द्रीय हिन्द्दी संस्थान अऩनी ववकास यात्रा के ऩचास वर्ष ऩूरे कर ऱेगा। इन ऩचास वर्ों में हिन्द्दी के ऩठन-ऩाठन को मानक रूऩ दे ने के अशतररि हिन्द्दी को िारत के स्तर ऩर ऩढ़ाने के शऱए शिक्षर्ण ऩद्धशत में िी समानता ऱाने के शऱए अऱग-अऱग केन्द्र खोऱे गए। अध्यक्ष मिोदय, उऩाध्यक्ष मिोदय और मंत्राऱय के मागषशनदे िन में सहियता बनी रिी। 19 माचष 2011 को केन्द्रीय हिन्द्दी संस्थान की स्वर्णष जयंती िै और िम चािते िैं हक अिी से उसके शऱए योजनाएं बनाएं, सोकऱास मनाएं, अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर ऩर सेमीनार आयोषजत करें । मैं आिारी िूं अध्यक्ष माननीय कवऩऱ शसब्बऱ जी का और उऩाध्यक्ष प्रो. अिोक चिधर जी का षजनके नेतत्ृ व में िमने अच्छी योजनाएं बनाई िैं ।

के. पबजय कुमार

केन्द्रीय हिन्द्दी संस्थान / 5


6 / अगवानी स्वर्णँ जयंती की

agwani  

welcome of golden jubilee

Read more
Read more
Similar to
Popular now
Just for you